वर्तिका बन मैं

वर्तिका बन मैं जलती रही हूँ |
जग , जग – मग मैं करती रही हूँ |

हो न जाये कहीं भी अंधेरा |
इसलिये ही तो डरती रही हूँ |

कांटे छलनी किये पाँव को पर |
संग तेरे मैं चलती रही हूँ |

कभी चूनर बनी इज्जत की |
उड़ – उड़ कर सम्हलती रही हूँ |

प्रेम में डूबकर प्रेम तुमसे |
मन ही मन में मैं करती रही हूँ |

सुनो सूरज मैं तेरी किरण हूँ |
तुझ पर जी – जी कर मरती रही हूँ |

3 विचार “वर्तिका बन मैं&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s