पहली बार

पहली बार उनका आना मुझे याद है सखी |
खट से कुंडी खटखटाना मुझे याद है सखी |

खोली दरवाजा तो सामने वे मिले,
नज़रों का टकराना मुझे याद है सखी ||

आँखों – आँखों में ही बातों – बातों में ही ,
दिल का बहक – बहक जाना मुझे याद है सखी |

धीरे से वे मुझे छू लिये जो कभी तो
मेरा सिहर – सिंहर जाना मुझे याद है सखी ||

बात करने लगे वे जाने की तो तभी ,
मेरे दिल का धड़क जाना मुझे याद है सखी ||

2 विचार “पहली बार&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s